कामयबी (Achievement)

image सिर्फ हसीन ख्वाबों से मिलती नहीं मंज़िल ,खून पसीने से मुकम्मल होती है तकदीर,कामयबी सिर्फ आंखोंकी नेमत नहीं,हाथों के पुखतें इरादों से बनती है तस्वीर।सिर्फ कानों के तरसने से सुनने को मिलता नहीं कलाम,शब्दों की कारीगरी से ही खिलती है नज़्म।  सिर्फ हलके ख्यालों से कोई बनता नहीं शायर,ज़हन की गहराइयों में ही मिलती … Continue reading कामयबी (Achievement)

Mind, A cage of flaming arrows.

Mind, a cage of flaming arrows,Cold abyss of blue, not warming shallows.Trapped existence within a delirium,deceptively idyllic, a devious mysterium.Obsessed with it's fallacious firmans,possessed by it's malicious demons.Acclimated to it's abuse, self justified,prisoner to it's whims, control nullified.Fallen in love with frail walls, towering high,"Precious" delicate shackles, refuse to untie.Like Plato's imprisoned trio(1), enamored of … Continue reading Mind, A cage of flaming arrows.