बीत रात के सपनें – Dreams of bygone night

Image रात जो बीत गयी है उसके सपनें ना देखिए,बस पैरों की ज़ंजीर बन जाएंगें,दिन जो हातों में है बस उसके पल खिलाइए,खुली उड़ान की तकदीर बन जाएंगे। यार जो ना रहा है उसके ग़मों को ना गिनिए,बस दिल के ताज़े ज़ख्म बन जाएंगें,प्यार जो सामने है उसकी बातों को समेटिए,वही अमन की नज़्म बन … Continue reading बीत रात के सपनें – Dreams of bygone night

Shayari(शायरी) + Haiku : “You did ….! But can you …??”

Image कामियाब हो तुम हमारा दिल तोड़ने में,मगर हमारा हौसला कहाँ तोड़ पावोगे ? You are successful!Success in breaking my heart!But can you break my spirit? चुरा सकते हो हमारी कलम और कलाममगर हमारा हुनर कहाँ चुरा पावोगे ? Ah! You stole my pen!Lucky at stealing my work.But can you steal my talent? मिट्टी में … Continue reading Shayari(शायरी) + Haiku : “You did ….! But can you …??”

Haiku/Shayari(शायरी) : Just cairn! Not mountain!

Qixingtan Beach (七星潭) , Hualien City (花蓮), Taiwan (photo by Joseph Elwin Fernandes) Haiku: Arranged scattered stones,titles it a “master piece”. Pfff!Just cairn, not mountain! Don't be so proud man,You are mere flicking flame! Pfff!Just a lamp, not Sun! Bubble on water;Life so fragile, so frail Pfff! Just a drop, not flood! You know to … Continue reading Haiku/Shayari(शायरी) : Just cairn! Not mountain!

कामयबी (Achievement)

image सिर्फ हसीन ख्वाबों से मिलती नहीं मंज़िल ,खून पसीने से मुकम्मल होती है तकदीर,कामयबी सिर्फ आंखोंकी नेमत नहीं,हाथों के पुखतें इरादों से बनती है तस्वीर।सिर्फ कानों के तरसने से सुनने को मिलता नहीं कलाम,शब्दों की कारीगरी से ही खिलती है नज़्म।  सिर्फ हलके ख्यालों से कोई बनता नहीं शायर,ज़हन की गहराइयों में ही मिलती … Continue reading कामयबी (Achievement)

बस आपसे, ….. गुज़ारिश है। (I only request you to…)

image आज आंसुओं की बारिश है,दर्द-ए-जिगर की नुमाईश है,ज़ादा कुछ नहीं चाहिएइस नादान को मनाने केलिए,बस आपसे, प्यार से मुस्कुराने की गुज़ारिश है। आज समां गुमसुम है,बड़ा सुनसान मंज़र है,ज़ादा कुछ नहीं चाहिए इस दिल को गुनगुनाने केलिए,बस आपसे, प्यार से पुकारने की गुज़ारिश है। आज नज़ारा बड़ा बेरंग है,मन में ख्यालों की एक जंग … Continue reading बस आपसे, ….. गुज़ारिश है। (I only request you to…)

बड़ी कुर्बानी (Greater sacrifice )

अपने ख़ज़ानों को लुटा कर बादलों ने सींचा है हर ज़मीन को,अपने परवानों को जला के शमा ने रोशन किया है हर महफिल को, अपने आराम को हराम कर के भँवरे ने खिलाया हर गुल को,अपने रंजिशों को भुला कर पहाड़ों ने सवारा है हर वादी को,अपने गुरूरों को तोड़ के समन्दरों ने सुकून नवाज़ा … Continue reading बड़ी कुर्बानी (Greater sacrifice )

तन्हाई की रात (Night of loneliness)

source   आप का नाम ना ले तो नींद नहीं आती,ये कमबख्त ख्वाब बसते नहीं आँखों मे,जब तक, आपके लिए दिल से दुआ नहीं जाती। रिश्ता यूँ आपसे बनगया है दोस्ती का,दूर होके भी ख़यालोंसे आपकी महक नहीं जाती। आज चाँद खफा खफा है सितारों से,उसे भी ये तन्हाई रास नहीं आती। भूल गए है … Continue reading तन्हाई की रात (Night of loneliness)

रूठा दोस्त (Shayari #1)

हज़ूर इस खता को माफ़ किया जाये ,ये दोस्ती है, दिल थोड़ा साफ़ किया जाये।बहुत मिन्नतों का नतीजा है ये दोस्ती,इस नादान के सात बस इन्साफ किया जाये।वक्त की नाज़ुक कली है ये जिंदगी,इसके बस किलने का इंतज़ार किया जाये।नफरतो का जाल बिछाया है दिल के दुश्मनोने,रंजिशोंको मिटाके इनका पर्दाफाश किया जाये।अब जो आप वाकिफ … Continue reading रूठा दोस्त (Shayari #1)